Home Uttarakhand News पौड़ी गढ़वाल: दो बेटियों की मौत से सुना पड़ा घर का आंगन

पौड़ी गढ़वाल: दो बेटियों की मौत से सुना पड़ा घर का आंगन

-

पौड़ी गढ़वाल में स्थित बीरोंखाल ब्लॉक के बापदा गांव में दो छात्राओं की नदी में डूबने से मौत हो गयी। दोनों की असमय मौत से पूरे गांव में मातम पसरा हुआ है। रविवार को पोस्टमार्टम के बाद दोनों का अंतिम संस्कार किया गया।

जानिए क्या है पूरा मामला –

गत 8 फरवरी की सुबह बीरोंखाल ब्लॉक के ग्राम बापता निवासी कक्षा नौ की छात्रा अमीषा (14 वर्ष, पुत्री दिनेश रावत) और कक्षा छह की छात्रा नेहा (11 7 वर्ष, पुत्री शिशुपाल सिंह रावत) घर से विद्यालय के लिए साथ निकली थी। हमेशा की तरह दोनों स्कूल जल्दी पहुंचने की होड़ में मुख्य पुल से विद्यालय न जाकर लकड़ियों के पुल के सहारे नदी पार करने लगीं। बारिश के चलते नदी का स्तर बढ़ा हुआ था जिससे उनका संतुलन बिगड़ गया और वे नदी में जा गिरे। घटनास्थल पर मौजूद प्राथमिक विद्यालय के अध्यापक ने दोनों को बचाने की कोशिश भी की लेकिन तब तक वे नदी के तेज बहाव में बह चुकी थी.

मौके पर पहुंची पुलिस टीम दोनों बच्चों की तलाश में जुट गई थी। एक घंटे बाद घटनास्थल से 150 मीटर दूर उन्हें अमीषा का शव बरामद हुआ।

उस दिन उसका अंतिम संस्कार नहीं हो पाया, क्योंकि उसके पिता दिनेश रावत दुबई में कार्यरत हैं। सूचना के बाद दिनेश रावत शनिवार रात गांव पहुंचे। रविवार को गांव वाले अमीषा का अंतिम संस्कार कर ही रहे थे कि तब तक नेहा का शव भी बरामद कर लिया गया.नेहा के पोस्टमार्टम के बाद उसका अंतिम संस्कार भी पैतृक घाट पर किया गया।

इस गमगीन माहौल में हुए दोनों बच्चियों के अंतिम संस्कार में परिजनों को बिलखता देख गांव वालों की आंख भी नम हो गई थी।

यह भी पढ़ें – प्रदेश में जहरीली शराब की वजह से हुई कई मौत, मचा हड़कंप, अब तक 31 कारोबारी हुए गिरफ्तार…

यह भी पढ़ें – 1962 की पूरी कहानी, जब मेजर शैतान सिंह और 13 कुमाऊं की चार्ली कंपनी के 120 जवानों ने मार गिराए थे 1400 चीनी सैनिक..

यह भी पढ़ें – नौकरी छोड़कर की सेब की खेती और फिर खरीदी 1.40 करोड़ की रेंज रोवर.. पढ़िए