Home National News मोदी सरकार ने खोले सेनाओं के हाथ, खरीद सकेंगे 300 करोड़ तक...

मोदी सरकार ने खोले सेनाओं के हाथ, खरीद सकेंगे 300 करोड़ तक के हथियार बिना किसी अनुमति के

-

पुलवामा हमले(Pulwama Attack) के बाद सरकार ने सेना के हाथ खोलने का महत्वपूर्ण फैसला लिया है। इस निर्णय के बाद अब भारत की तीनो सेनायें बिना किसी औपचारिकताओं के हथियार और सुरक्षा उपकरण खरीद सकेंगे। सीमाओं की सुरक्षा के लिए जो भी उपकरण आवश्यक हैं, उन्हें खरीदने के लिए तीन सेवाओं को आपातकालीन अधिकार दे दिए गए हैं।

सरकारी सूत्रों ने ANI को बताया कि तीनों सेवाओं को दिए गए अधिकारों के तहत तीन महीने के भीतर वे 300 करोड़ रुपये के अपनी पसंद के उपकरण खरीद सकते हैं।

आप को बता दें, पुलवामा हमले में सीआरपीएफ के 44 जवानों की सहादत के कुछ ही हफ्तों बाद सैन्य बलों को कुछ आपातकालीन अधिकार दिए गए थे, जिसके बाद भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ सीमाओं पर चौकसी बढ़ानी शुरू कर दी थी।

यह भी पढ़ें – जिस आतंक ने कश्मीर छोड़ने पर किया था मजबूर उसी ने छीन ली सारी खुशियां, कहानी शहीद मेजर की पत्नी निकिता की..

इज़राइल से लगभग 250 स्पाइक मिसाइल खरीदने का प्रस्ताव रखा

इस अधिकार के बाद भारत ने सैन्य सेवाओं के हित मे कई प्रस्तावों को आगे बढ़ाया है। इसी सिलसिले में सेना ने इज़राइल से लगभग 250 स्पाइक मिसाइल खरीदने का प्रस्ताव रखा है, जो हमारी आपातकालीन आवश्यकताओं को पूरा करेगा।

वायु सेना ने अंतरराष्ट्रीय बाजार से कुछ मिसाइलों की खरीद में भी रुचि दिखाई है, जो सीमाओं की सुरक्षा मामले में आवश्यकताओं को पूरा करने में मदद करेगी।

यह भी पढ़ें – अमेरिका में रहने वाले इस 26 वर्षीय भारतीय ने पुलवामा में शहीदों के परिजनों के लिए 6 करोड़ रुपये से अधिक जुटाए….

बुरी खबर: पहली पोस्टिंग पर तैनात होने जा रहे जवान की रास्ते मे हुई मौत

आपातकालीन अधिकारों के तहत सेनाओं को हथियार और सुरक्षा उपकरणों की खरीद के लिए वित्त विभाग से एकीकृत वित्तीय सलाहकार की सहमति लेने की भी जरूरत नहीं है। रक्षा मंत्रालय को लगता है कि युद्ध जैसे हालातों में सेना को उचित हथियार और गोला-बारूद की खरीद की प्राथमिकता के बारे में फैसला करना चाहिए।

पाकिस्तान स्थित आतंकी समूह जैश-ए-मोहम्मद ने पुलवामा हमले की जिम्मेदारी ली थी, जिसके जवाब में भारत ने 26 फरवरी को सैन्य विमानों द्वारा पाकिस्तान के बालाकोट स्थित आतंकवादी प्रशिक्षण शिविर को नष्ट कर दिया था।

यह भी पढ़ें – जब ‘जनरल बकरा’ ने बचाई थी गढ़वाल राइफल्स के जवानों की जान, जानिए कहानी ‘जनरल बकरा बैजू’ की…

यह भी पढ़ें – युवक युवती ने चालान मशीन तोड़ी और पुलिस वाले की वर्दी फाड़ी, दोनों गिरफ्तार

Loading...