Menu Close

आर्मी चीफ बिपिन रावत का बड़ा फैसला, ARTRAC हो सकता है शिमला से स्थानांतरित…

नई दिल्ली:- सेना प्रशिक्षण कमान आरट्रैक (ARTRAC) के अगले छह महीने में शिमला स्थित अपने मुख्यालय से अंबाला स्थानांतरित होने की संभावना है। इसकी मुख्य वजह उपयुक्त स्थान और पर्याप्त बुनियादी ढांचे की कमी बताया जा रहा है।

आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत का यह शायद सबसे बड़ा फैसला है, जिसने देश की 1.2 मिलियन फोर्स के पुनर्गठन का प्रयास किया है।

आपको बता दें कि आरट्रैक का गठन 1 अक्तूबर 1991 को किया गया था। यह शिमला का वह स्थान है जहां भविष्य के सैन्य सिद्धांतों पर काम किया जाता है। सेना के सूत्रों ने कहा कि इसे फील्ड फार्मेशन के साथ अधिक संपर्क बनाने और फाइटिंग यूनिट के साथ अधिक बातचीत करने की आवश्यकता है।

150 से अधिक अधिकारियों और ARTRAC में कई हजार लोगों के साथ फील्ड फॉर्मेशन के साथ बातचीत भी आर्मी हेडक्वार्टर के संपर्क में अधिक होनी चाहिए और अंबाला इसे और करीब लाता है।

सात ऑपरेशनल कमानों में से एक, आरट्रैक पूरे भारतीय सेना के प्रशिक्षण के लिए उत्तरदायी है। आपको बता दें कि ARTRAC दोनों विश्वयुद्धों के रणनीति का केंद्र भी रह चुका हैं।

अंतिम निर्णय अब पहले, रक्षा मंत्रालय और फिर, सरकार के साथ है।

यह भी पढ़ें – 1962 की पूरी कहानी, जब मेजर शैतान सिंह और 13 कुमाऊं की चार्ली कंपनी के 120 जवानों ने मार गिराए थे 1400 चीनी सैनिक..

यह भी पढ़ें – नौकरी छोड़कर की सेब की खेती और फिर खरीदी 1.40 करोड़ की रेंज रोवर.. पढ़िए

यह भी पढ़ें – जब ‘जनरल बकरा’ ने बचाई थी गढ़वाल राइफल्स के जवानों की जान, जानिए कहानी ‘जनरल बकरा बैजू’ की…

Related Posts