Home Uttarakhand News Dehradun Metro: देहरादून में अब मेट्रो रेल और एलआरटी की जगह चलेगी...

Dehradun Metro: देहरादून में अब मेट्रो रेल और एलआरटी की जगह चलेगी केबल कार, जानिए क्या है केबल कार

-

देहरादून में लंबे समय से देहरादून मेट्रो रेल प्रोजेक्ट (Dehradun Metro Rail Project) को धरातल पर लाने की सरकार की कोशिश जारी है। ऐसे में इस परियोजना ने एक और नया मोड़ ले लिया है। अब देहरादून में मेट्रो रेल और लाइट रेल ट्रांजिट (LRT) के बाद सरकार पब्लिक ट्रांसपोर्ट सिस्टम में तीसरे विकल्प ‘एरियल रोपवे ट्रांजिट (ART) या केबल कार सिस्टम (रोपवे)’ पर मंथन कर रही है।

Dehradun Metro : जगह और लागत के चलते केबल कार पर विचार

प्रदेश में मेट्रो रेलवे सिस्टम को विकसित करने के लिए सरकार ने उत्तराखंड मेट्रो रेलवे कॉरपोरेशन (UKMRC) का गठन किया है। विगत कुछ सालों में देहरादून, ऋषिकेश और हरिद्वार में मेट्रो रेलवे के लिए सर्वेक्षण किया गया। इस सर्वेक्षण में परियोजना में आने वाली लागत के चलते निर्माण के आसार नहीं हैं।

इसके बाद सरकार ने दूसरे विकल्प के तौर पर लाइट रेलवे ट्रांजिट (LRT) पर विचार किया। इस मेट्रो प्रोजेक्ट की अंतिम डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (DPR) भी तैयार किया जा चुका है। लेकिन इस परियोजना में देहरादून में जगह की कमी के चलते निर्माण कार्य आसान नहीं होगा।

केबल कार सिस्टम का प्रस्ताव तैयार

मेट्रो प्रोजेक्ट में जगह और लागत की कमी को देखते हुए सरकार ने एक और विकल्प के तौर पर एरियल केबल कार सिस्टम (रोपवे) पर मंथन शुरू कर दिया है। लागत के लिहाज से देखा जाए तो ये प्रोजेक्ट सस्ता है और जमीन की उपलब्धता कम होने के बावजूद भी इसका निर्माण किया जा सकता है।

देहरादून में केबल कार सिस्टम के निर्माण के लिए प्रस्ताव तैयार किया गया है। ये प्रस्ताव मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह के समक्ष पेश किया जा चुका है। अब इस प्रस्ताव पर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत का अप्रूवल आना बाकी है।

Dehradun Metro: बोलिविया की तर्ज पर तैयार होगा केबल कार सिस्टम (रोपवे)

बोलिविया के शहर ला पाज (La Paz) का भौगोलिक स्वरूप देहरादून के समांतर है। यहां पब्लिक ट्रांसपोर्टेशन में केबल कार का उपयोग किया जाता है। ऐसे में देहरादून में इस प्रोजेक्ट के तहत काम करना पब्लिक ट्रांसपोर्टेशन सिस्टम में कारगर साबित हो सकता है।

क्या है केबल कार सिस्टम?

किसी समय में केवल कार का उपयोग स्की स्लोप्स तक ही सिमत था, लेकिन अब केबल कार एक पॉपुलर पब्लिक ट्रांसपोर्ट सिस्टम के तौर पर उभर रहा है। पहाड़ी शहरों में मेट्रो या फिर बस आधारित ट्रांसपोर्ट सिस्टम को धरातल पर लाने के लिए काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है, ऐसे में केबल कार नेटवर्क एक बेहतर विकल्प के तौर पर सामने आता है।

एरियल रोपवे ट्रांजिट (ART) या केबल कार सिस्टम (रोपवे) को एरियल ट्राम, स्काई ट्राम, एरियल ट्रामवे आदि के रूप में जाना जाता है। भारत में इसे उड़न खटोला, गगन खटोला, आदि भी कहा जाता है। केबल कार एक प्रकार की एरियल ट्रांजिट होता है जिसमें केबिन में यात्रियों को ले जाया जाता है। इसमें एक या दो फिक्स्ड केबल (यानी ट्रैक केबल), एक केबल का लूप (यानी खीचने की रस्सी) और केबिन होते हैं।

Loading...