Home National News उत्तराखंड में पहली बार होगा हिमालयन कॉन्क्लेव, 11 राज्य करेंगे शिरकत

उत्तराखंड में पहली बार होगा हिमालयन कॉन्क्लेव, 11 राज्य करेंगे शिरकत

-

Himalayan Conclave: उत्तराखंड पहली बार 28 जुलाई को मसूरी में हिमालयन कॉन्क्लेव की मेजबानी करने को तैयार है, जहां स्थायी विकास पर मुख्य ध्यान केंद्रित किया जाएगा। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की पहल पर पहली बार हिमालयी राज्यों का सम्मेलन होने जा रहा है। आधिकारिक स्रोतों के अनुसार, चर्चा हिमालयी संस्कृति,आर्थिक विकास और पर्यावरणीय सरोकारों के लिए होगी। यह पहली बार होगा जब बढ़ती ग्लोबल वार्मिंग के बीच हिमालयी इकोलॉजी की रक्षा के साथ कैसे विकास का लाभ यहां के लोगों तक पहुंचाया जा सकता है, कान्क्लेव का यह मुख्य एजेंडा है। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रेरणा से प्रस्तावित हिमालयन कॉन्क्लेव में नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार भी इस सम्मेलन का हिस्सा बनने के लिए सहमत हो गए हैं। इस सम्मेलन की शासन स्तर पर तैयारियां शुरू हो गई हैं।मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा, “हम सम्मेलन में हिमालयी राज्यों की समस्याओं को हल करने पर ध्यान केंद्रित करेंगे। यह सम्मेलन भविष्य में हिमालयी राज्यों के लिए वित्तीय संसाधन उपलब्ध कराने का मार्ग प्रशस्त करेगा।”

सीएम रावत ने कहा, “नीतीयोग और वित्त आयोग भी हिमालयी राज्यों में जमीनी वास्तविकताओं का सही पता लगाने में सक्षम होंगे।” हिमालयन कॉन्क्लेव में अपनाए गए प्रमुख बिंदुओं को क्षेत्र के विकास के लिए नीतीयोग के समक्ष मसौदे के रूप में प्रस्तुत किया जाएगा।हिमालयी राज्यों के सम्मेलन में उत्तराखंड, जम्मू और कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, सिक्किम, असम, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय, नागालैंड, त्रिपुरा, मिजोरम और नागालैंड राज्यों के प्रतिनिधि शिरकत करेंगे। जिसमें प्रशासक और विशेषज्ञ शामिल होंगे, जो हिमालय के संरक्षण पर मंथन करेंगे।

READ ALSO: