Home Cricket News ऋषभ पंत ने खोला राज, कोहली की यह बात कभी नही भूलूंगा

ऋषभ पंत ने खोला राज, कोहली की यह बात कभी नही भूलूंगा

-

आगामी 30 मई से इंग्लैंड में शुरू हो रहे वर्ल्ड कप शुरू होने जा रहा है जिसमे ऋषभ पंत को भारतीय टीम में जगह नही मिली। भारत के क्रिकेट प्रेमियों के दिलों में जगह बना चुके ऋषभ पंत ने विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी को लेकर एक बड़ा खुलासा किया है।

ऋषभ पंत का नाम नहीं

हर व्यक्ति का सपना होता है कि वह भारत के लिए वर्ल्ड कप खेले और अपने देश का नाम ऊंचा करे। भारतीय टीम के 15 खिलाड़ियों का चयन हो चुका है जिसमे ऋषभ पंत का नाम नहीं है। पंत बड़े हिट और तेजी से रन बनाने के लिए जाने जाते हैं और वह टीम में जगह न मिलने से थोड़ा नाखुश हैं। उन्होंने कहा है कि वह इन सब से आगे बढ़ कर धोनी और विराट से बहुत कुछ सीख चुके हैं।

हरिद्वार में गंगा किनारे युगल कर रहे थे शराब और मांस सेवन, लोगों ने सिखाया सबक

देश के लिए वर्ल्ड कप खेलना

टीवी चैनल आजतक से बातचीत में रिषभ पंत ने कहा, “बिलकुल ये मेरे लिए निराशाजनक था। हर खिलाड़ी का सपना अपने देश के लिए वर्ल्ड कप खेलना होता है। वो एक अलग ही अनुभव होता है।

बतौर क्रिकेटर मैं काफी निराश हुआ लेकिन प्रोफेशनल खिलाड़ी होने के नाते मैं समझता हूं कि अगर मैं इसी बारे में सोचता रहा तो कुछ हासिल नहीं कर पाऊंगा। मैं इन सब चीजों से आगे बढ़कर आने वाले मैचों पर ध्यान लगाना चाहता हूं।”

ऋषभ पंत ने खुलासा किया कि उन्होंने महेंद्र सिंह धोनी और टीम के कप्तान विराट कोहली से काफी कुछ सीखने को मिला है। पंत ने बताया कि उन्होंने इन दोनों से अनुशासन सीखा है और वह कहते हैं, “आज तक माही भाई कभी लेट नहीं हुए। वो रोजाना एक प्रक्रिया का पालन करते हैं। एक अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी प्रक्रिया पर भरोसा रखता है।

एक बात मुझे विराट भैया ने कही थी जो मैं कभी नहीं भूल सकता। उन्होंने कहा था कि अनुभवी बनने के लिए आपको 100 मैच खेलने की जरूरत नहीं। दूसरे खिलाड़ियों की गलती से सीखना और उन्हें ना दोहराना बहुत जरूरी है। ये सब 10 मैचों में भी सीखा जा सकता है उसके लिए 100 मैच खेलने की जरूरत नहीं।”

MS Dhoni के बंगले में चोरों ने डाला डाका, वर्ल्ड कप जीतने के बाद लिया था यह घर

Watch: हिमाचल में खुद को SDM बताने वाले शख्स ने की HRTC के ड्राइवर से सरेआम मारपीट

जब ‘जनरल बकरा’ ने बचाई थी गढ़वाल राइफल्स के जवानों की जान, जानिए कहानी ‘जनरल बकरा बैजू’ की…

Travel with weuttarakhand
Like-We-uttarakhand-logo.jpg
Loading...