Home Cricket News "42 के लिएंडर पेस अगर ग्रैंडस्लैम जीत सकते हैं तो मैं क्रिकेट...

“42 के लिएंडर पेस अगर ग्रैंडस्लैम जीत सकते हैं तो मैं क्रिकेट खेल सकता हूँ” – आजीवन प्रतिबंध हटने के बाद श्रीसंत बोले

-

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी एस श्रीसंत(S. Sreesanth) ने राहत की सांस ली है। उच्चतम न्यायालय ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) को श्रीसंत पर लगाये गए आजीवन प्रतिबंध रद्द करने के बाद पुनर्विचार का आदेश दिया है।

खुद की तुलना भारतीय टेनिस प्लेयर लिएंडर पेस से की

2013 के इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में स्पॉट फिक्सिंग में संलिप्त होने के कारण बीसीसीआई ने श्रीसंत पर आजीवन प्रतिबंध लगाया था। 36 वर्षीय तेज गेंदबाज ने एक इंटरव्यू में खुद की तुलना भारतीय टेनिस प्लेयर लिएंडर पेस से करते हुए कहा, “अगर लिएंडर पेस 42 की उम्र में ग्रैंड स्लैम जीत सकते हैं, तो मैं 36 में कुछ क्रिकेट खेल सकता हूं।”

श्रीसंत को मुंबई के स्पिनर अंकित चव्हाण और हरियाणा के अजीत चंदीला के साथ, 2013 में बीसीसीआई की अनुशासनात्मक समिति ने आजीवन प्रतिबंध लगा दिया था। जिसके बाद श्रीसंत ने इस फैसले के लिए अदालत में चुनौती दी थी।

मामले पर पुनर्विचार

न्यायमूर्ति अशोक भूषण और न्यायमूर्ति के एम जोसेफ की पीठ ने बीसीसीआई की अनुशासनात्मक समिति को तीन महीने के भीतर इस मामले पर पुनर्विचार करने को कहा। इस फैसले के बाद श्रीसंत ने कहा, “मुझे नहीं पता कि आने वाले सालों में मेरे साथ क्या होगा। छह सालों से मैंने क्रिकेट नही खेला है, जो मेरी ज़िंदगी थी।

एस श्रीसंत ने विदेश में क्रिकेट खेलने की अपनी योजना को साझा किया और कहा, “आपकी उम्र उतनी ही है जितनी आप महसूस करते हैं। मैं फिर से स्कॉटलैंड में क्लब क्रिकेट खेलना चाहूंगा। मैं पिछले साल खेलना चाहता था, लेकिन अनुमति नहीं मिली। मैं इस समय इंग्लैंड में क्लब क्रिकेट नहीं खेल सकता क्योंकि मैंने छह सालों से प्रथम श्रेणी क्रिकेट नहीं खेला है। “

यह भी पढ़ें – न्यूजीलैंड की मस्जिद में आतंकी हमला, नमाज के लिए जा रही थी बांग्लादेशी क्रिकेट टीम, 49 लोग मारे गए

विश्व कप विजेता टीम का हिस्सा

श्रीसंत 2007 में टी20 और 2011 वनडे विश्व कप विजेता टीम का हिस्सा रहे हैं। उन्होंने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में भारत के लिए 27 टेस्ट, 53 वनडे और 10 टी20 मुकाबले खेले हैं। “मुझे उम्मीद है कि बीसीसीआई देश की सर्वोच्च अदालत के फैसले का सम्मान करेगी और मुझे कम से कम क्रिकेट के मैदान में वापस आने की अनुमति देगी।”

यह भी पढ़ें – मुंबई: छत्रपति स्टेशन के पास गिरा पुल, 6 लोगों की मौत, दर्जनों हुए घायल