उत्तराखंड के लिए गर्व की बात भारतीय सेना में 100 में से 1 सपूत..

National News

उत्तराखंड जहाँ अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए प्रसिद्ध है, वहीं दूसरी तरफ प्रदेश को यहाँ की पवित्र भूमि में जन्मे वीर सपूतों के लिए भी जाना जाता है। देश की आजादी के पहले से और आजादी के इतने वर्षों के बाद भी उत्तराखंड के वीर जवानों का देश की सुरक्षा में अहम योगदान रहा है।

वीरों की सूची में उत्तराखंड जैसे कम घनत्व वाले राज्य का देश में बड़ा योगदान है। उत्तराखंड, देश के 29 राज्यों में से 19 वां सबसे बड़ा है। सिर्फ एक करोड़ से थोड़ी ही अधिक जनसँख्या के साथ राज्य आबादी के हिसाब से देश में 20 वें स्थान पर है और अपने निकटवर्ती पड़ोसी (उत्तर प्रदेश) की आबादी का 20 गुना कम है।

प्रदेश के वीर जवानों ने सेना में अपनी वीरगाथा को स्वर्णिम अक्षरों से लिखा है
प्रदेश के विभाजन से पहले जहाँ इस क्षेत्र से तीन विक्टोरिया क्रॉस सहित 364 पदक थे, वहीं आजादी के बाद से,अभी तक यहाँ के वीर जवानों ने 1 परमवीर चक्र सहित 1262 पदक अपने नाम किये हैं।

उत्तराखंड के वीर जवान

सूबेदार मेजर दरवान सिंह, (विक्टोरिया क्रॉस), ऑनरेरी कैप्टन गजे सिंह घले (विक्टोरिया क्रॉस), रा. मै. गबर सिंह (विक्टोरिया क्रॉस) मरणोपरांत, ले. जन. डीएस थापा (परमवीर चक्र), नायक भवानी दत्त जोशी (अशोक चक्र) मरणोपरांत, कप्तान उमेद सिंह (अशोक चक्र) मरणोपरांत, हवलदार गजेंद्र सिंह बिष्ट (अशोक चक्र) मरणोपरांत, हवलदार बहादुर सिंह बोहरा (अशोक चक्र) मरणोपरांत, नायक मोहन नाथ गोस्वामी (अशोक चक्र) मरणोपरांत

स्वतंत्रता से पूर्व वीरता पदक

विक्टोरिया क्रॉस : 03
मिलिट्री क्रॉस : 25
इंडियन ऑर्डर ऑफ मेरिट : 53
इंडियन डिस्टिंग्विस्ड सर्विस मेडल : 89
मिलिट्री मेडल : 44
मैंशन-इन-डिस्पैच : 150

आजादी से अब तक

परमवीर चक्र : 01
अशोक चक्र : 06
महावीर चक्र : 13
कीर्ति चक्र : 29
उत्तम युद्ध सेवा मेडल : 03
वीर चक्र : 100
शौर्य चक्र : 169
युद्ध सेवा मेडल : 28
सेना/नौ सेना/वायु सेना मेडल : 745
मैंशन-इन-डिस्पेच : 168

Sorce amar ujala

Leave a Reply

Your email address will not be published.