Home National News उत्तराखंड में इस जिले के 132 गांवों में एक भी लड़की ने...

उत्तराखंड में इस जिले के 132 गांवों में एक भी लड़की ने नही लिया जन्म, सरकार ने दिए जांच के आदेश

-

Uttarkashi News: उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले के चिन्हित 132 गांवों में पिछले तीन महीने में एक भी बिटिया ने जन्म नही लिया है। इस बात के सामने आने के बाद उत्तराखंड सरकार ने इस मुद्दे को गंभीरता से लिया है और जांच के आदेश दिए हैं।उत्तराखंड प्रशासन ने इस बात के सामने आने के बाद रेड जोन के तहत 132 गांवों को चिह्नित किया है और स्थानीय मान्यता प्राप्त सामाजिक स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं (आशा) को अपने रडार पर रखा है।

पिछले तीन महीनों में जिले के चिन्हित 132 गांवों में एक भी लड़की ने जन्म नहीं लिए है, जिनमे सिर्फ 216 लड़के सामिल हैं। रिपोर्ट सामने आने के बाद प्रशासन में हलचल का माहौल है।सरकार के आंकड़ों के मुताबिक, 2011 की जनगणना के अनुसार, उत्तरकाशी में 1,68,597 पुरुषों की तुलना में 1,61,489 महिलाएं थीं। बाद में सरकारी एजेंसियों द्वारा लिंगानुपात में सुधार के लिए काफी बड़े अभियान चलाए गए।

Uttarkashi News: स्वास्थ्य विभाग द्वारा एकत्र किए गए आंकड़ों के अनुसार ..

हालांकि, पिछले तीन महीनों के आंकड़ों ने जिले में कन्या भ्रूण हत्या की संभावना को उजागर किया है। राज्य के स्वास्थ्य विभाग द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के अनुसार, डूंडा ब्लॉक के 27 गांवों में 51 प्रसवों में से एक भी लड़की का जन्म पिछले तीन महीनों में नहीं हुआ है।

इसी तरह, भटवारी (27 गांवों में 49 बच्चे जन्मे), नौगुन (28 गांवों में 47 जन्मे), मोरी (20 गांवों में 29 जन्मे), चिन्यालीसौड़ (16 गांवों में 23 जन्मे) और पुरोला ब्लॉक (14 गांवों में 17 जन्मे), जबकि इनमे से एक भी अकेली लड़की का जन्म नहीं हुआ। उत्तरकाशी के डीएम आशीष चौहान ने कहा,”स्वास्थ्य विभाग द्वारा एकत्र किए गए आंकड़ों के अनुसार, 132 गांवों में कुल 216 प्रसवों में एक भी लड़की का जन्म नहीं हुआ है, जो संदिग्ध है और कन्या भ्रूण हत्या पर प्रकाश डाला गया है।”

READ ALSO:

Loading...