Home National News पाकिस्तान ने सीमा पर जारी तनाव के चलते विंग कमांडर अभिनंदन को...

पाकिस्तान ने सीमा पर जारी तनाव के चलते विंग कमांडर अभिनंदन को रिहा करने की घोषणा की

-

कल (27 फरवरी) पाकिस्तान के लड़ाकू विमानों ने भारतीय क्षेत्र में हमले की कोशिश की, जिसे भारतीय वायुसेना ने पूरी तरीके से नाकाम कर दिया था. सेना की इस कार्रवाई में MiG-21 की मदद से पाकिस्तान का एक F-16 जेट मार गिराया. लेकिन इस दौरान भारत का एक MiG-21 विमान क्रैश होकर पीओक(POK) में जा गिरा. इसके बाद विमान में सवार पायलट अभिनंदन को पाकिस्तान आर्मी ने अपने हिरासत में लिया.

इस पूरी घटना के बाद सोशल मीडिया पर अभिनंदन की कुछ फोटोस और वीडियोस वायरल होने लगी. जिसमें पहले फोटोज/वीडियो में वो घायल नजर आ रहा थे, लेकिन उसके कुछ समय बाद एक और वीडियो सामने आती है जिसमें अभिनंदन बताते हैं कि पाकिस्तानी सेना उनके साथ अच्छा व्यवहार कर रही है.

इस खबर के बाद सियासत में सरगर्मी का माहौल होने लगा. भारत लगातार पाकिस्तान पर पायलट को रिहा करने का दबाव बना रहा था. आज (28 फरवरी) दोपहर में इमरान खान ने पाकिस्तान की संसद में घोषणा की ‘वे कल भारतीय पायलट अभिनंदन को शांति के संकेत के तौर पर पर रिहा करेंगे’.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने संसद के संयुक्त सत्र को संबोधित करते हुए कहा कि “शांति के संकेत के रूप में, हम कल विंग कमांडर अभिनंदन को रिहा कर रहे हैं”.

यह भी पढ़ें  – Indo-Pak: अमेरिका ने जैश कैंप पर भारत की एयरस्ट्राइक का किया समर्थन, डोभाल ने की फोन पर बातचीत

पाकिस्तान पर बनाया जा रहा था दबाव

भारत ने पायलट की रिहाई को लेकर पाकिस्तान पर दबाव बनाये जा रहा था. भारत ने साफ तौर पर कह दिया था कि भारत को अभिनंदन की रिहाई से कम कुछ भी मंजूर नहीं होगा. आज ही पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा था कि अगर युद्ध का माहौल खत्म होता है तो उनका देश पायलट की रिहाई को तैयार है. लेकिन सरकार के सूत्रों के हवाले से खबर आई थी कि भारत ने किसी भी शर्त को मानने से मना कर दिया.

यह भी पढ़ें – भारतीय वायु सेना के LOC पार करने पर किसने क्या कहा..? क्या ये सर्जिकल स्ट्राइक- 2 है ?

क्यों पाकिस्तान को करनी पड़ी भारतीय पायलट की रिहाई ?

जिनेवा एक्ट के तहत पाकिस्तान ने दो नियमों के उल्लंघन किए हैं. चलिए जानते हैं आखिर क्या है ये दो उल्लंघन

1. जिनेवा संधि के मुताबिक, दूसरे देश के सैनिकों के साथ युद्ध के समय पर ही नहीं, बल्कि शांति काल में भी अच्छा बर्ताव करने का प्रावधान है. जैसे ही जंग जैसे हालात खत्म हो जाएं, उनकी तुरंत रिहाई होनी चाहिए. इस तरह पाक ने संधि का पहला उल्लंघन कर दिया.

2. युद्धबंदी को शारीरिक उत्पीड़न देना पूरे तरीके से प्रतिबंधित है। उस पर चिकित्सकीय(Medical) और वैज्ञानिक(Scientific) प्रयोग की भी सख्त मनाही है। उसके फोटोज़ और वीडियो (Photos and Videos) भी सामने लाना प्रतिबंधित है। Wing Commander Abhinandan के फोटो और वीडियो जारी कर इस तरह पाकिस्तान ने संधि का दूसरा उल्लंघन किया.

यह भी पढ़ें –भारतीय सेना ने गुजरात में घुसपैठ कर रहे पाकिस्तानी ड्रोन को मार गिराया