Home Uttarakhand News बस चालक ने गर्भवती महिला को रस्ते में उतारा, सड़क किनारे महिला...

बस चालक ने गर्भवती महिला को रस्ते में उतारा, सड़क किनारे महिला ने बच्चे को दिया जन्म, नवजात की मौत

-

बुधवार को चमोली जनपद के घुनी गांव निवासी मोहन सिंह ने अपनी 8 माह की गर्भवती पत्नी नंदी देवी (उम्र 32 वर्ष ) के प्रसव के लिए गोपेश्वर से बस में श्रीनगर बेस अस्पताल के लिए रवाना हुए। लेकिन रुद्रप्रयाग और कर्ण प्रयाग के बीच नगरासू के समीप महिला को तेज प्रसव पीड़ा होने लगी।



यह देखकर पति उसे ढांढस बंधाता रहा लेकिन दर्द तेज होने के कारण महिला चिल्लाने लगी जिस पर बस चालक ने उन्हें वही उतरने को कहा, परिचालक द्वारा किराए को लेकर दंपति से बदसलूकी भी की गई लेकिन बस में बैठे किसी भी यात्री ने पीड़ित दंपति का साथ नहीं दिया।

इस बीच मोहन सिंह ने 108 को फोन किया किंतु उसकी पत्नी को अधिक पीड़ा होने लगी। प्रसव पीड़ा के कारण वह सड़क के किनारे बैठ गई जहां उन्होंने एक बच्चे को जन्म दिया लेकिन प्राथमिक उपचारों के अभाव के कारण नवजात शिशु ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। इसके बाद मोहन सिंह ने निकट ही अपने मृत नवजात को दफना दिया।



जिस प्रदेश को देवभूमि के नाम से जाना जाता है वहीं पर लोगों ने अपना वह रूप दिखाया जो कि इंसानियत को शर्मसार करता है। आते-जाते छोटे बड़े वाहनों में बैठे लोगों ने मदद करना तो दूर रोड किनारे इस हालत में बैठे दंपति को देखकर अनदेखा कर दया।

सूचना मिलने पर महिला को 108 से तत्काल जिला अस्पताल रुद्रप्रयाग में भर्ती कराया गया, अब महिला की स्थिति स्थिर बताई जा रही है।

[pt_view id=”ec5dc6ccs7″]



Loading...